जय महावली हनुमान दया करो कृपा निधान 

टिप्पणियाँ